वृद्धाश्रम में भारी अव्यवस्था…फंड न मिलने से हाल बेहाल…स्टॉफ को वेतन के लाले…एनजीओ संचालक भी पस्त… दानदाताओ के भरोसे…नगरपालिका नें पहुंचाई खाद्य सामग्री…

कोरिया जिले में समाज कल्याण विभाग के तत्वावधान में एनजीओ के माध्यम से वृद्धाश्रम तो खोल दिया गया। लेकिन फंड नही मिलने के अभाव में अब यह वृद्धाश्रम बेहद बदहाल अवस्था में है। वर्तमान में यहां बुजुर्ग पुरुष और महिला मिलाकर 10 लोग निवासरत हैं। लेकिन बेड के साथ दवाइयां व बुनियादी सुविधाओं और खाने-पीने के भी लाले पड़ने जैसी स्थिति आन पड़ी है। फंड नही मिलने से एनजीओ संचालक ने भी लगभग हाथ खड़े कर लिए हैं। स्थिति यह है कि स्टॉफ को कई महीनों से वेतन भी नही मिला है। शुरू में जनप्रतिनिधियों के साथ आला अधिकारियों ने भी यहां दौरा कर कई बड़ी-बड़ी बातें की लेकिन नतीजा वहीं ढांक के तीन पांत ही रहा। हालात यहां तक पहुंच गए हैं कि यदि दान दाता राशन न दे तो बुजुर्गों को भोजन भी नही मिल आए। चप्पल, कपडे व मेडिकल सुविधा का भारी अभाव है। गर्मी में बिना कूलर बुजुर्ग चीख रहे हैं। दो बुजुर्ग महिला काफी बीमार भी हैं। जबकि ऐसा होना चाहिए कि सप्ताह में एक बार मेडिकल टीम वृद्धाश्रम आ कर इन बुजुर्गों की जांच करे। अमित श्रीवास्तव जैसे समाज सेवी लगभग रोज सब्जी-चावल आदि पहुंचा रहे हैं। वही जब इसकी जानकारी नगरपालिका के अध्यक्ष अशोक जायसवाल को मिली तो उन्होंने पहले दवाइयों के लिए नगद राशि उपलब्ध कराई। इसके बाद नगरपालिका की सीएमओं ज्योत्स्ना टोप्पो, कौशल यादव, कांग्रेस नेता अजय सिंह, पूर्व नपा उपाध्यक्ष विजय सिंह ठाकुर के साथ आज जाकर आटा, चावल, नमक, तेल, चायपत्ती, दूध, नमक, हल्दी-मसाले, तेल, शक्कर, अंडे सहित अनेक प्रकार की खाद्य सामग्री पहुंचाई। वही सीएमओ ने चप्पल व कपडे भी देने की बात कही है।
Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Don`t copy text!
Close