जिसे कमजोर समझ सेंट जोसेफ ने नकारा… उस छात्र ने सरकारी स्कूल में की पढ़ाई..और हुआ नवोदय में हुआ सेलेक्ट…

कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर के सबसे प्रसिद्ध इंग्लिश मीडियम स्कूल सेंट जोसेफ के प्रबंधन ने जिस होनहार छात्र शौर्य गुप्ता को कमजोर कहकर नकार दिया था, उस छात्र ने शहर के ही महलपारा के सरकारी स्कूल से पढ़ाई करते हुए कक्षा पांचवी में अध्ययनरत रहकर जवाहर नवोदय विद्यालय के चयन परीक्षा  को शानदार तरीके से उत्तीर्ण कर लिया है। आपको बता दें कि शौर्य गुप्ता जिला बाल संरक्षण अधिकारी आशीष गुप्ता और मनरेगा जनपद पंचायत बैकुंठपुर में पदस्थ लेखापाल श्रीमती ज्योति गुप्ता के पुत्र हैं इनका चयन सामान्य वर्ग में हुआ है। सेंट जोसेफ स्कूल के बर्ताव से रुष्ट होकर शौर्य के अभिभावकों ने उसका एडमिशन महलपारा सरकारी स्कूल में कराया था। जहां के प्रधान पाठक शशि भूषण पांडे ने इसी चुनौती के रूप में लेते हुए बालक की लगन व मेहनत से उसके लक्ष्य को आसान कर दिया। आपको बता दें कि इस सरकारी स्कूल के प्रधान पाठक शशि भूषण पांडे की मेहनत से निशुल्क साल भर क्लास लेकर बच्चों की सफलता की नींव रखी  गई है। आपको यह भी बता दें कि तत्कालीन कलेक्टर डोमन सिंह ने एक बार इस स्कूल का भ्रमण किया था तब उन्होंने होनहार छात्र शौर्य की काफी तारीफ की थी।
यह उन पेरेंट्स के लिए भी एक सबक है जो अपने बच्चों को केवल नामी-गिरामी इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ाने के लिए सिर्फ इसलिए लालायित रहते हैं कि उनका सामाजिक स्टेटस किसी प्रकार से कम ना हो।
Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Don`t copy text!
Close