गोधन न्याय योजना के तहत एकत्रित गोबरों से केंचुआ खाद (वर्मीकम्पोस्टिंग) बनाने की विधि की ट्रेनिंग कृषि विभाग ने स्वच्छता दीदियों को दिया..

 निगम महापौर कंचन जायसवाल, आयुक्त सुश्री सुमन राज की मौजूदगी में कृषि विभाग के अधिकारियों ने दिया खाद्य बनाने की विधि की जानकारी

सोमवार को नगर पालिक निगम की महापौर कंचन जायसवाल, निगम आयुक्त सुश्री सुमन राज, एमआईसी पार्षद फ़िरोजा बेगम, संदीप सोनवानी, सोहन खटीक साथ कृषि विभाग के अधिकारी बालकृष्ण, नफीस सिद्धिकी व एमआईसी पार्षद की उपस्थिति में छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वकांक्षी गोधन न्याय योजना के तहत एकत्रित गोबरों से केंचुआ खाद (वर्मीकम्पोस्टिंग) बनाने की विधि की ट्रेनिंग कृषि विभाग ने छोटाबाजार के एसएलआरएम सेंटर में स्वच्छता दीदियों को दी गई।

उपरोक्त जानकारी देते हुए कृषि विभाग के नफीस सिद्धिकी ने बताया कि केंचुआ खाद बनाना यह जैव व्यर्थ पदार्थ को केंचुए के मल में बदलने की प्रक्रिया है. इसका मल मृदा की उर्वरता के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है केंचुए के कास्टिंग में अच्छी मिट्टी की ऊपरी सतह की तुलना में पांच गुणा नाइट्रोजन सात गुणा पोटाश एवं डेढ़ गुणा कैल्शियम में ज्यादा पाया जाता है। केचुआ खाद तथा केंचुए के प्राकृतिक रूप से भूमि में छेद बनाने के कारण भूमि में पानी का संचार बढ़ जाता है।

उन्होंने बताया कि वर्मीकम्पोस्ट उद्पादन के लिए गाय का गोबर खेत के व्यर्थ पदार्थ, फसल, अवशेष गिरी हुई पत्तियां निकाले गए नींदा सब्जी बाजार का व्यर्थ पदार्थ, फूलों से प्राप्त व्यर्थ पदार्थ कृषि उधोगो का व्यर्थ पदार्थ, होटलो से प्राप्त व्यर्थ पदार्थ आदि शहरी एवं ग्रामीणों क्षेत्रों से प्राप्त जैव अपघटिनीय व्यर्थ पदार्थ तथा सभी जैवअपघटिनीय पदार्थ उपयुक्त होंते है। उन्होंने बताया कि वर्मीकम्पोस्टिंग से पौधों की बढ़वार में अच्छा प्रभाव पड़ता यह मृदा संरचना, मृदा विन्यास, मृदा वातन तथा भूमि की जल धारण क्षमता को बढ़ावा एवं मृदा क्षरण को रोकता है।

इस दौरान निगम सचिव श्याम देश पाण्डेय, ई.ई.प्रशांत शुक्ला, सोनकर, साबिर खान, पार्षद सन्नी कुमार चौहथा, व अन्य निगम के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Don`t copy text!
Close