पत्रकार सुशील शर्मा के खिलाफ एफआईआर को लेकर पत्रकारों ने कमिश्नर – कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन..

बस्तर बंधु के वरिष्ठ पत्रकार सुशील शर्मा की गिरफ्तारी और उन पर मामला दर्ज किए जाने को लेकर बस्तर के पत्रकारों ने आयुक्त बस्तर संभाग और कलेक्टर बस्तर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा है.पत्रकारों ने घटना को निंदनीय बताते हुए राज्य सरकार से मांग की है कि तत्काल दर्ज एफआइआर को रद्द किया जाकर मामले की गंभीरता पूर्वक जांच करवाई जाये,दरअसल बस्तर के कांकेर निवासी बस्तर बंधु के संपादक सुशील शर्मा के खिलाफ एक महिला अधिकारी ने रायपुर में एफ आई आर दर्ज करवाया था पुलिस ने वरिष्ठ पत्रकार को ना केवल गिरफ्तार किया बल्कि उन्हें मानसिक पीड़ा भी पहुंचाई,बाद में 5 हजार की निजी मुचलके पर श्री शर्मा को छोड़ दिया गया.लेकिन पत्रकारों ने सरकार पर यह सवाल किया है कि आखिर पत्रकार सुरक्षा कानून के दायरे के तहत किसी सक्षम अधिकारी से जांच कराए बगैर कैसे पत्रकार पर एफ आई आर दर्ज हो गया.जबकि प्रस्तावित पत्रकार सुरक्षा कानून तहत बिना किसी सक्षम अधिकारी के जांच के बगैर सीधे पत्रकार पर एफ आई आर नहीं हो सकता,पत्रकारों ने मामले को निंदनीय बताते हुए राज्य सरकार के मुखिया भूपेश बघेल से निवेदन किया है कि वे तत्काल मामले को संज्ञान में लेते हुए उक्त  महिला अधिकारी के मामलों की जांच कर पत्रकार पर दर्ज एफआईआर को रद्द करें कांकेर के वरिष्ठ पत्रकार सुशील शर्मा विगत 40 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में हैं और उन्हें अपनी सीमा रेखा का अच्छी तरह से ज्ञान है उन्होंने भ्रष्टाचार के विरुद्ध मुहिम चलाकर अनेक समाचार निर्भीकता पूर्वक प्रकाशित किया साथ ही जन समस्या निवारण विषयक समाचार भी प्रकाशित किए जिससे उन्हें कई बार पत्रकारिता के लिए सम्मानित किया गया है ईसके बावजूद एक महिला अधिकारी की शिकायत पर रायपुर में उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज करना घोर निंदनीय है.बस्तर के पत्रकारों ने कहा कि चौथे स्तंभ पर लगातार हमले व थानों में मामले दर्ज हो रहे हैं मगर इस ओर अब तक कोई भी गंभीर नहीं है.समाज को आइना दिखाने का काम पत्रकार करता है और  उन पर ही एफ आई आर दर्ज होने लगे तो पत्रकार जायें कहाँ,बस्तर के पत्रकारों ने कमिश्नर बस्तर और कलेक्टर से भी निवेदन किया है कि वे पत्रकारों की बात प्रदेश के मुख्य तक पहुचाये,पत्रकारों ने प्रदेश सरकार से यह भी मांग रखी है कि जल्द से जल्द पत्रकार सुरक्षा कानून राज्य में लागू करें.कांग्रेस पार्टी ने सरकार बनते ही पत्रकार कानून लागू करने की बात कही थी लेकिन अब तक इस दिशा में कोई निर्णय नहीं हुआ है.बस्तर कमिश्नर अमृत खलको को ज्ञापन देने के दौरान बस्तर जिला पत्रकार संघ के अध्य्क्ष एस.करीमुद्दीन,वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र बाजपेयी,सतीश तिवारी,डी एस नियाजी सुधीर जैन,नरेश कुशवाह,राकेश पांडे,विनोद सिंह, अनिल सामंत,धर्मेंद्र महापात्र, एसके हसन राजा संतोष वर्मा,गिरीश शर्मा तथा कलेक्टर रजत बंसल को ज्ञापन देने के दौरान शंकर तिवारी, सत्यनारायण पाठक,वीरेंद्र मिश्र,श्रीनिवास रथ,वहाब खान,बास्की ठाकुऱ ,स्वरूप राज,राजेश प्रसाद,प्रकाश रावल,धीरज मेहता, मनोज जंगम, विनोद सिंह,विनय पाठक,रविराज पटनायक अनिल सामंत,धर्मेंद्र महापात्र सहित अन्य पत्रकार मौजूद थे.

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Don`t copy text!
Close